वायरल

यूपी बोर्ड की परीक्षा कॉपी में लिखी मोहब्बत की दास्तान, कहा – ‘I Love You My Pooja और…’

  • हर साल यूपी बोर्ड की परीक्षा में हज़ारो परीक्षार्थी  बैठते है। ऐसे में पास होने के लिए उन पर बड़ा प्रेशर होता है। इनमें से कुछ परीक्षार्थी अच्छे अंग लाने के लिए जी जान से मेहनत करते है। तो वहीं कुछ छात्र कॉपियों को शिद्दत से भरते है। चौकने की बात यह कि यह परीक्षार्थी कापियों के भरने के लिए किसी उत्तर के आने का इंतजार नहीं करते बल्कि जो दिमाग में आता है भर  देते है। हर साल हमें इन कांपियो में हज़ारो मजेदार किस्से बंद मिलते है। तो चालिए आपको कुछ मजेदार किस्सो से रुबरु कराते है जिसे पढ़कर आप अपनी हंसी रोक नहीं पाएंगे।

    उत्तर पुस्तिका को भरने के लिए यह परीक्षार्थी शेर, शायरी, गाने, मोहब्बत के किस्से, शादी टूटने की मजबूरी और रुपयों के साथ पास करने की गुजारिश के साथ कई चटपटे जवाब लिख देते है।  इनके यह जवाब शिक्षा व्यवस्था को तार तार करता है। यूपी बोर्ड की शिक्षा व्यवस्था तो पहले ही सवालों के घेरे में है और ऐसे में इस तरह की हरकते तो आग में घी डालने का काम करती हैं।  वैसे यह पहला मौका नहीं है, जब इस तरह की चीज़े सामने आई है, उत्तर प्रदेश की बोर्ड परीक्षाओं से इस तरह की खबरें आना आम बात है।

    आप इन तस्वीरो को देखकर अंदाजा लगा सकते हैं कि यूपी बोर्ड के परीक्षार्थी अपनी पढ़ाई को लेकर किस हद तक अपनी जिम्मेदारी निभा रहे है। परीक्षार्थी 100 और 200 रुपये का नोट रख कर  खुद को पास कराने की गुजारिश कर रहे है। ऐसा मामले हमेशा ही आते है। हर दिन किसी न किसी कॉपी में 100-200 के नोट मिलते हैं और उसके साथ लिखा होता है कि सर प्लीज पास कर देना  मतलब साफ है कि छोटी सी उम्र में बच्चे भ्रष्टाचार करने पर उतारु हो चुके हैं।


    इतना ही नहीं कुछ बच्चे उत्तर पुस्तिका में सवालों का जवाब देने के बजाय अपनी मोहब्बत की दास्तां लिखकर दुनियां को सुना रहे है।  वहीं कुछ छात्र अध्यापकों को इमोशन ब्लैकमेल कर रहे हैं। कोई अपने मां बाप न होने की बात लिख रहा है, तो कोई अपनी बीमारी का बहाना बना रहा है, लेकिन सबकी कोशिश यह है कि बोर्ड परीक्षा में किसी तरह वह पास हो जाए। उत्तर पुस्तिका में एक लड़की ने लिखा कि सर प्लीज पास कर देना, वरना मंगेतर रिश्ता तोड़ लेगा और फिर मैं कहीं मुंह दिखाने के लिए लायक नहीं रहूंगी। इस तरह की उत्तर कापियां देखने के बाद इस बात का अंदाजा लगाया जा सकता है कि हमारी शिक्षा व्यवस्था किस स्तर तक जा पहुंचा है।

Please follow and like us: