अजब गजब

इन 9 भिखारियों की जयजात के बारे में जानकर उड़ जायेंगे आपके होश! आने लगेगी खुद पर शर्म

भारत देश मे लगभग 40 प्रतिशत जनता गरीबी रेखा से नीचे है और अपना गुजारा भीग मांगकर करती है। अक्सर आते जाते इन्हें देखकर आपके दिल में बेशक दया भाव की भावना आ जाती हो और आप इन्हें एक आधा रुपया दे देते हो। लेकिन हम जो बात आपको बताने जा रहे है उसे जानकर आप दांतो तले उंगली दबा लेंगे और सोचेगे ऐसा क्या।

जी हां हम एक ऐसे रहस्य से पर्दा उठाने जा रहे है जिसे सुनकर शायद आपको जानकर शायद आप यकीन ना कर पाए लेकिन ये सच है। आज हम आपको जिन भिखारियों के बारे में बताने जा रहे है, दरअसल वो भारत के सबसे अमीर भिखारियों में से एक हैं और उनके बच्चे आपके और हमारे बच्चो की तरह कॉन्वेन्ट स्कूलों में पढ़ते हैं। इन सबके बावजूद भीख मांगना इनका पेशा है।

भरत जैन

अपनी शानदार इंग्लिश से सबका मन मोह कर भीग मांगने वाले भरत जैन रोज मुंबई में परेल के पास 10 से 12 घण्टे भीख मांगते हैं। जबकि इनके पास 70-70 लाख के दो फ्लैट हैंस और तो और भरत भांडुप इलाके में एक जूस की दुकान हैं। इसी जगह पर इनकी एक और दुकान है। जिससे इनको 10 हजार रुपए महीने का किराया मिलता है।
पप्पू कुमार

पटना के पप्पू कुमार के बैंक अकाउंट में 1 करोड़ से ज्यादा बैलेंस हैं और फिर सड़क पर लोगो से ये केह कर भीख मांगते हैं की क्कुह पैसे दे दो बहुत दिनों से खाना नहीं खाया हैं। जबकि इनका बेटा इंग्लिश मिडयम स्कूल में पढ़ता हैं।
मासु

मासु के पास मुम्बई के परेल में खुद का 1 कमरे का फ्लैट है। साथ ही 30 लाख की इसके अलावा यह संपत्ति के मालिक है। यह बेहद फैशनेबल तरीके से भीख मांगते है।
ये फिल्म स्टूडियो में कपड़े बदल कर ऑटो से भीख मांगने वाली जगह पर जाते है और भीख मांगते है।
संभाजी काले

संभाजी काले की रोज़ाना आमदनी 1500 रुपए है। इसके अतिरिक्त इनके पास खुद के 2 घर और इतने ही प्लॉट है। और तो और इन्होने बैंकों में भी निवेश कर रखा है। इसके बाद भी इन्हें भीख मांगने में मज़ा आता है।
हाजी

हाज़ी मुंबई से है इनकी रोज़ाना आमदनी 2 हजार रुपए है। त्योहारों के वक़्त इनकी आमदनी बढ़ जाती है। इनके पास खुद का घर है और साथ में ही करीब 15 लाख तक के प्लाट्स। इसके अलावा हाज़ी का खुद का जरी का कारखाना है, जहां 15 लोग काम करते हैं। अपने परिवार के समझाने के बाद भी ये भीख माँगना नही छोड़ते।
रामबाई

देखी रामबाई खम्मम की रहने वाली हैं और यह यहां की मशहूर भिखारी है। हालाँकि इन्होने अभी तक अपनी संपत्ति के बारे में खुल कर बात नहीं की हैं किन्तु जब भी इनकी सम्पति का पिटारा खुलेगा सब के होश उड़ जायेंगे ।
लक्ष्मी दास

लक्ष्मी 1964 में 16 साल की उम्र से भीख मांग रही है। लक्ष्मी दास को पोलियो है और इन्होने भीख मांग-मांग कर मोटा बैंक बैलेन्स बना लिया है। अभी हाल ही में उन्हें बैंक का क्रेडिट कार्ड मिला है।
सार्वितीया देवी

भारत की सबसे चर्चित स्त्री भिखारी सार्वितीया देवी। ये पटना में रहती है और सालाना 36 हजार रुपए एलआईसी प्रीमियम का भुगतान करती हैं।भीख से हुई आमदनी से ये अपनी बेटी की शादी कर चुकी हैं और इनके पास भी खुद का घर है। सात तीर्थ स्थानों के साथ ही विदेश यात्रा भी कर चुकी है।
Please follow and like us: