अजब गजब

इस लड़के के चेहरे पर बाल ही बाल हैं, डर कर भाग जाते हैं लोग

इन दिनों जहां कोरोना वायरस कहर बरपा रहा है वहीं  आपको ऐसी बीमारी के बारे में बताने जा रहे है जिसे जानकर  आप हैरान हो जाएंगे। इस बीमारी की वजह से एक 13 साल का लड़का बंदर की तरह दिखने लगा है। लोग इसे देखकर डर जाते है। इस लड़के के चेहरे पर 5 सेंटीमीटर तक बाल निकल आये है। डॉक्टर इसे दुर्लभ बीमारी की वजह बात रहे है। तो चलिए आपको बताते है इस बीमारी का रहस्य….

यह कहानी मध्य प्रदेश के रहने वाले 13 वर्षीय ललित पाटीदार की है। ललित एक दुर्लभ जन्मजात बीमारी वरवोल्फ सिंड्रोम से पीड़ित है। इसकी वजह से उसके चेहरे 5 सेंटीमीटर तक बाल उग आए हैं। इस दुर्लभ बीमारी के बाद भी ललित ने अपनी ज़िंदगी मे हार नहीं मानी है।

ललित कहते हैं कि ‘अजनबी मुझ पर पत्थर फेंकते हैं और बंदर कहकर बुलाते हैं। मैंने भी अपने रूप को स्वीकार कर लिया है। मैं पुलिस फोर्स ज्वॉइन करना चाहता हूं। ललित का कहना है कि एक समय ऐसा भी था जब बच्चे मुझे पत्थर मारते थे। मेरे साथ खेलने से बचते थे, लेकिन मेरे परिवार और दोस्तों ने मुझे उनसे बचाया और ध्यान रखा। सबसे बुरा समय वो था जब मुझे बालों के कारण सांस लेने और दाएं-बाएं देखने में दिक्कत होती थी। कभी-कभी इच्छा होती है मैं भी दूसरे बच्चों जैसा दिखूं, लेकिन कुछ नहीं कर सकता है। इसलिए जैसा हूं वैसे ही खुश हूं।’

ललित की मां पर्वतबाई कहती हैं कि ‘परिवार में 14 लोग हैं। जन्म से ही उसके शरीर पर आम बच्चों की तुलना में बहुत ज्यादा बाल हैं। डॉक्टर ने बताया था कि ललित को कंजेनिटल हायरट्राइकोसिस (congenital Hypertrichosis) नाम की जन्मजात बीमारी है और इसका इलाज मौजूद नहीं है। मैं जानती हूं वह अलग है, लेकिन मेरे लिए खास है।’ ललित खेल कूद के साथ पढ़ने लिखने में भी अच्छा है

ललित के  डॉ राजेश शर्मा का मानना है की यह हाइपर ट्राइकोसिस कंडीशन होती है, जिसमे बहुत ज्यादा बाल शरीर पर हो जाते हैं।  इसका इलाज हो सकता है। इसके लिए लगातार डॉक्टर्स के संपर्क में रहना पड़ेगा।  उनका कहना है कि इस समस्या के लिए वे अपने परिचित डॉक्टर्स जो यूएस व यूएसए में हैं, उनसे संपर्क कर इस बच्चे के इलाज की दिशा में कदम बढ़ाएंगे।

Please follow and like us: