वायरल हिंदी समाचार

नफ़रत फ़ैलाने वाली “सिख फ़ॉर जस्टिस” की 40 वेबसाइट्स बैन, चलेगा केस

देश की सुरक्षा में सेंध लगाना हो या फिर डिजिटली नफरत फैलाने का प्लान देश के या देश से बाहर रहने वाले कुछ लोग बड़ी मेहनत से करते हैं।

देश मे हर उस चीज़ के ऊपर बैन लगाया जा रहा है या देश से बाहर निकल जा रहा है जिससे देश को आंतरिक रूप से खतरा हो सकता है। 

अभी हाल ही में भारत चीन विवाद के चलते भारत सरकार द्वारा लगभग 59 चीनी apps को बैन कर दिया गया क्योंकि ये सभी apps यूजर के लिए खतरा बन चुकी थी। 

अभी येबैन लगा ही था के अब ग्रह मंत्रालय द्वारा 40 और वेबसाइट को बैन कर दिया गया है। लेकिन ये सभी वेबसाइट्स चीन की नही थी बल्कि एक सिख अलगावाद से जुड़े संगठन की थी। 


इन सभी वेबसाइट्स को नफरत फैलाने पर बैन किया गया है। दरअसल इन वेबसाइट्स को “सिख फ़ॉर जस्टिस” नाम का संगठन चला रहा था। इस संगठन का मुखिया गुरपवंत सिंह पन्नू है जिसके खिलाफ हरयाणा पुलिस द्वारा देश द्रोह और अलगाव वाद फैलाने का मुकदमा दर्ज किया है।

पन्नू अमेरिका में रहता है और वही से अपनी इन सभी वेबसाइट्स के ज़रिए भारत के लहिलाफ़ नफरत फैलाने का काम करता है। वह 4 जुलाई को एक अवैध जनमत संग्रह करने वाला था और वइन्ही वेबसाइट्स के ज़रिए इसका प्रचार भी कर रहा था। हरयाणा और पंजाब हाई कोर्ट ने इसपर कार्यवाही को लेकर असंतुष्टि ज़ाहिर की थी। पंजाब सरकार का कहना है के उन्होंने इस संगठन के लगभग 116 whatsapp ग्रुप्स को भी बैन कर दिया है।

पन्नू उन लोगो में से एक है जो सिक्खों के लिए अलग राष्ट्र यानि “ख़ालिस्तान” की डिमांड करते आ रहे हैं, भारत में प्राइम मिनिस्टर द्वारा कहे जाने पर पन्नू को पाकिस्तान में भी बैन किया जा चूका है

भारत में में कई दफा पन्नू को अमेरिका से भारत लेकर सजा देने की बात भी उठा चुकी है

Please follow and like us: