अजब गजब

यहां दहेज में पैसे नहीं बल्कि दिए जाते हैं सांप, इसके बिना नहीं होती है शादी

यह दुनिया अजीबो गरीब परम्पराओं से भरी पड़ी है, ऐसे ऐसे किस्से सुनने को मिल जाते हैं कि आप अपने कानो पर भरोसा भी न करें। लेकिन बहुत सरे अन्धविश्वास भी इसी दुनिया में मौजूद हैं जो इंसानी विकास में बाधा पैदा करते हैं। कुछ अन्धविश्वास हैं और कुछ कुरीतियां भी हैं। दहेज़ भी ऐसी ही कुरीतियों में से एक है। दहेज़ ने न जाने कितनी मासूम लड़कियों का जीवन तहस नहस कर दिया, न जाने बेचारी कितनी ही लड़कियां मौत की बलि चढ़ गयी, सरकार ने इसके विरोध में कानून भी निकले लेकिन आज भी बहुत सी बहुएं इस कुरीति की बलि चढ़ रही हैं और अपनी जान से हाथ धो बैठती हैं, दूल्हा पक्ष भी इतना बेशर्म हो जाता है की गलत और सही के बीच का फर्क नहीं कर पता और किसी मासूम को मौत के घाट उतार देता है यार फिर उसको प्रताड़ित करता है। भारत में ये हिन्दू और मुस्लिम दोनो धर्मो में देखा गया है।

छत्तीसगढ़ में एक आदिवासी अंचल है जहाँ पर आपको ऐसी परंपरा देखने को मिल जाएगी, यहाँ है ये अनोखी परंपरा जहां पर बेटी को शादी में साँपों का जोड़ा दिया जाता। यह भी कहा जाता है क अगर बेटी को यह जोड़ा नहीं दिया गया तो शादी अधूरी है। इसे यहां शुभ माना जाता है। और तो और शादी के दौरान अध्कि यानि वधु पक्ष वर यानि दूल्हे पक्ष को दहेज़ स्वरुप 21 सांप दिए जाते हैं। अगर वधु पक्ष नहीं दे पाते तो विवाह सपन्न नहीं माना जाता।

क्युकी आजकल सांप मिलना बहुत मुश्किल गया है, इसलिए ऐसा बहुत बार होता है जब वधु पक्ष के लिए साँपों का इंतेज़ाम कर पाना बहुत मुश्किल हो जाता है। सरकार ने भी सांप पलने पर प्रतिबन्ध लगा रखा है, जिसकी वजह से इस प्रजाति के लोगो का रोजी रोटी का इंतजाम मे तो दिक्कत आती ही है साथ में बेटियों के घर में कुंवारी बैठने का डर भी बना रहता है।

Please follow and like us: