वायरल

करोड़पति कंपाउंडर: 28 साल की नौकरी में कमाए 14 करोड़, सैलरी थी सिर्फ 44 लाख रुपए

अस्पताल में हर आदमी परेशान आता है यहां गरीब से गरीब अपनी जमीन जायदाद बेचकर ऐसे वैसे करके पैसे जमाकर रिश्तेदारों को बचाने की कोशिश में लगा रहता है। अस्पताल कर्मचारी इसी बात का फायदा उठाकर रिश्वत खोरी कर इन लोगों से पैसा कमाने की होड़ में लगे रहते है। ऐसा ही मामला राजस्थान के एक कांपउंडर का आया है जिसको जानकर आप दांतो तले उंगली दबा लेगे। इस शख्स ने अपनी 28 साल की नौकरी में 44 लाख की जगह 14 करोड़ की कमाई कर डाली।
इस मामले की परते जब खुलना शुरु हुई एसीबी की टीम ने इस शख्स को रंगे हाथो रिश्वत लेते पकड़ा। इसके बाद एसीबी ने कंपाउंडर महेश चन्द्र के खिलाफ आय से ज्यादा संपत्ति का मामला भी दर्ज किया था। इस टीम ने जब जांच करना शुरु किया तो मामला कुछ और ही समाने आया दरअसल एसीबी ने अपनी जांच रिर्पोट पता चला आरोपित का सरकारी सेवाकाल 20 जनवरी 1985 से 29 जून 2013 तक रहा है। इस दौरान इनका वेतन 44 लाख रुपए होता है, लेकिन जांच में 13 करोड़ 44 लाख 93 लाख से ज्यादा की चल-अचल संपत्ति मिली। जबकि आरोपित की कुल वैध आय लगभग 2 करोड़ 84 लाख होनी चाहिए।
इस तरह होती थी रिश्वतखोरी
राज्यभर में नर्सिंग कॉलेज खुलवाने के लिए मोटी वसूली की जाती थी, यहीं नहीं वसूली के लिए कॉलेजों में बेवजह निरीक्षण तथा सम्बद्धता खत्म करने की धमकी दी जाती थी। इस मामले में वह दिल्ली आईएनसी तक अपनी रिपोर्ट भेजता था। मामला सामने आने के बाद से मेडिकल काउन्सिल में हड़कंप की स्थिति बनी हुई है।
Please follow and like us: