अजब गजब

इस्लामिक देश बनने से पहले ईरान में ऐसी थी लोगों की ज़िंदगी

जैसा की आप सब जानते है की ईरान एक इस्लामिक देश है| और यहाँ शरिया कानून का पालन किया जाता है| दरअसल ईरान में 80 के दशक में शरिया कानून लागू किया गया था| इस कानून लागू होने के बाद वहाँ रहने वाले लोगों की जिंदगी पूरी तरह से बदल गई थी। इस देश में जो लोग इस कानून का पालन नहीं करते, उनको जेल में डाल दिया जाता है। इतना ही नहीं बल्कि ईरान में रहने वाली महिलाओं पर कई सारी पांबदियां भी लगी हुई हैं|

दरअसल ऐसा कहा जाता है कि 70 के दशक में ये देश बेहद ही मॉडर्न हुआ करता था| तब देश में रहने वाले लोगों को अपने मन की हर चीज करने की आजादी थी। पर अब इस देश की महिलाओं को हिजाब पहनना जरूरी होता है। वो बिना हिजाब के घर से बाहर नहीं जा सकती है, और अगर वो ऐसा करती है तो इसके लिए उन्हें कानून तोड़ने की वजह से सजा भी हो जाती है|

बेहद ही मॉडर्न हुआ करता था ईरान
पहले ये देश बहुत ही मॉडर्न हुआ करता था| इस देश की मशहूर पॉप गायिका गूगूश काफी मॉडर्न थी और वो पश्चिमी संस्कृती से बेहद ही प्रभावित भी थी| पर शरीया कानून के लागू होने के बाद उन्हें अपने देश को छोड़ कर ब्रिटेन में जाकर रहना पड़ा। पहले इस देश में महिलाओं को कुछ भी करने और पहनने की आजादी थी पर जब से ईरानी क्रांति हुई हैं, यहाँ सब कुछ बदल गया है और इस देश की महिलाएं पाबंदियों से घिर गई है|


अयातुल्लाह खमैनी ने किया था ये कानून लागू
साल 1979 में ईरान की कमान को अयातुल्लाह खमैनी ने संभाल ली थी| शासक बनते ही अयातुल्लाह खमैनी ने ईरान में शरिया कानून लागू करके इसे इस्मालिक देश बना दिया| जिसके बाद कई लोग देश छोड़ कर चले भी गए|

आज भले ही ईरान देश विकास की तरफ़ तेज़ी से बढ़ रहा है पर यहाँ के लोगों को अपने मन-पसंद कपड़े पहनने की आजादी नहीं है|

Please follow and like us: