वायरल

32 किलोमीटर रातभर पैदल चलकर पहले दिन ऑफिस पहुंचा कर्मचारी, खुश होकर बॉस ने गिफ्ट कर दी कार

आजकल बढ़िया नौकरी हर कोई करना चाहता है जिसमे मन का काम भी हो और आराम भी उपर से बढ़िया सैलरी तो भाई क्या ही कहने, लेकिन कुछ किस्मत वालों को जब ऐसी नौकरी मिल जाती है तो वह इसकी नौकरी की कीमत भूल जाते है और गैज़िम्मेदाराना हरकत करने लगते हैं।

लगभग हर रोज़ आफिस लेट पहुचना, काम को डेडलाइन पर पूरा न करना, अपने बॉस से फालतू की बहस में पड़ना और भी बहुत कुछ ऐसी हरकतें करने लगते हैं। वो कर्मचारी शायद यह भूल जाते हैं कि ऐसी जरकतें कर के वह किसी डिजर्विंग कैंडिडेट का हक़ मार रहे हैं जो बाहर कही नौकरी के लिए दर दर की ठोकरें खा रहा होगा।

इसके विपरीत ऐसा भी होता है जहां एम्प्लोयी कंपनी मैनेजमेंट के लिए पूरी ईमादारी के साथ काम भी करता है और फिर भी कंपनी उसके काम के हिसाब से पैसा या सुविधाएं नही देती।

अब बढ़ते हैं एक दिलचस्प स्टोरी की ओर जहां एक नए कर्मचारी ने ऐसा कुछ कर दिया कि उसके कंपनी के सीईओ ने उसको कार ही गिफ्ट कर डाली।

अलाबामा के रहने वाले 20 साल के वॉल्टर कार्र ने कुछ ऐसा कर दिया के उनके बॉस खुश हो गए लेकिन यह काम उसने जानबूझ कर खुश करने के लिए नहीं किया था। वॉल्टर की यह पहली नौकरी थी और वो नही चाह रहे थे के उन्हें उनकी पहली नौकरी में पहले ही दिन लेट पहुचना पड़े, इसलिए वो अपने 32 किलोमीटर दूर घर से रात को ही आफिस के लिए निकल पड़े।

रात को आधे रास्ते मे उनकी कार खराब हो गयी और रास्ता अभी लंबा था और रात के चलते कोई साधन भी नही मिलता। कही नौकरी के लिए लेट न हो जाएं तो उन्होंने बचा हुआ रास्ता पैदा ही कवर करने की ठान ली। बहुत लम्बे सफर पैदल चलने के बाद जब वो थक कर बैठे तो एक पुलिस वाले ने उनसे रुक कर उनका हाल पूछा और उनकी ऑफसी पहुचने में मदद करी।

ऑफिस पहुचने के बाद जब कंपनी के सीईओ को यह बात पता चली तो वो अपने नए कर्मचारी की कर्म निष्ठा को देख कर इतना खुश हो गए के उन्होंने वॉल्टर को कार गिफ्ट कर दी। अगर हर कर्मचारी ऐसे काम करे तो कंपनी दिन दूनी रात चौगुनी तरक्की करेगी। और बोसेस को भी अपने कर्मचाहियों का ध्यान रखना चाहिए, के उन्हें कोई दिक्कत न हो।

Please follow and like us: