खेल

Hobart International: सानिया ने माँ बनने के बाद धमाकेदार कमबैक, जीता खिताब

भारत की बेहतरीन टेनिस खिलाड़ी सानिया मिर्जा ने दो साल की बाद धमाकेदार वापसी कर होबार्ट इंटरनेशनल टूर्नामेंट का खिताब जीतकर एक बार भी साबित कर दिया के वो टेनिस की क्वीन है। माँ बनने के बाद भी उनका यह जलवा बरकरार है और पूरे दो साल बाद भी उनके टेनिस खेलने के अंदाज़ में कोई कमी नहीं आई है वो आज भी अपने आक्रमक अंदाज़ से कोर्ट पर उतरती है।

33 साल की सानिया का पूरे टूर्नामेंट के दौरान अपनी यूक्रेनी साथी नादिया किचेनोक के साथ आक्रमक अंदाज़ जारी रहा। यह सानिया का 42वां डब्ल्यूटीए डबल्स खिताब है और मां बनने के बाद उन्होंने यह पहला खिताब अपने नाम किया है।

सानिया और नादिया की जोड़ी ने दूसरी वरीयता प्राप्त झांग शुइ और पेंग शुइ की चीनी जोड़ी को 6-4, 6-4 से शिकस्त दी। यह मुकाबला पूरे एक घंटे 21 मिनट तक चला। सानिया और नादिया की जोड़ी ने स्लोवेनियाई-चेक जोड़ी तमारा जिदानसेक और मैरी बुजकोवा को शुरुवात में बड़ा संघर्ष करना पड़ा। संघर्ष के बाद दोनों की जोड़ी ने  7-6 (3), 6-2 से मात देकर फाइनल में अपनी जगह बना ली।

सानिया ने दो साल के बाद

टेनिस कोर्ट पर शानदार वापसी करते हुए खिताब पर अपना कब्जा जमा लिया। इस टूर्नामेंट से पहले सानिया ने अक्टूबर 2017 में चाइना ओपन में खेला था। हालांकि टेनिस से दो साल की दूरी बनाने से पहले उन्हें गंभीर चोट से भी जूझना पड़ा। उसके बाद उन्होंने दो साल का माँ बनने के लिए ब्रेक लिया। आपको बताते चलते है कि भारतीय टेनिस स्टार सानिया डबल्स में पूर्व विश्व नंबर-1 हैं और छह ग्रैंड स्लैम खिताब (3 डबल्स + 3 मिक्स्ड डबल्स) उनके नाम दर्ज हैं। सानिया 2013 में सबसे सफल भारतीय महिला टेनिस खिलाड़ी रहते हुए सिंगल्स मुकाबले से सानिया ने संयास ले लिया था।

Please follow and like us: