हिंदी समाचार

NDTV पर दर्ज हुआ केस, इस झूठी खबर के ज़रिए माहौल खराब करने की थी साजिश

जाने माने न्यूज़ चैनल को इन दिनों एक खबर का दावा करना महंगा पड़ रहा है. दरअसल हाल ही में तनिष्क के हिन्दू-मुस्लिम विज्ञापन को लेकर सोशल मीडिया पर काफी हल्ला बोला जा रहा था. इस बीच एनडीटीवी चैनल के एक ब्रेकिंग न्यूज़ चलाई थी कि गुजरात के गांधीधाम में तनिष्क स्टोर पर हमला किया गया है. चैनल का कहना था कि हमला करने वाले लोगों ने स्टोर के मैनेजर को एक माफीनामा लिखने के लिए कहा था.

लेकिन इस बीच अब गुजरात के होम मिनिस्टर ने इस खबर का खंडन किया है. उन्होंने कहा कि, “एनडीटीवी ने जो तनिष्क स्टोर पर हमले की खबर फैलाई है, वह पूरी तरह से झूठी और फर्जी है. चैनल की मंशा गुजरात की कानून-व्यवस्था को बिगाड़ना है और साथ ही इससे हिंसा भी बढ़ सकती है. ऐसे में मैंने चैनल के लोगों पर मामला दर्ज करने के आदेश दे दिए हैं. अब चैनल को फेक न्यूज़ दिखाना महंगा पड़ेगा. इसके लिए सख्त करवाई के आदेश दिए जा चुके हैं.

बता दें कि गृह मंत्री से पहले कच्छ के एक आईपीएस अधिकारी ने भी इस फर्जी खबर को झूठा बताया था और इसका बुरी तरह से खंडन किया था. उन्होंने कहा था, “मीडिया द्वारा तनिष्क सर पर हमले की बात कही जा रही है, दंगा हुआ है या फिर चोरी, यह सब झूठी अफवाह है मात्र फेक न्यूज़ है. यह एक सोची समझी प्लानिंग के तहत चल रहा है इसलिए किसी भी अफवाह पर ध्यान ना दें.”

बता दें कि तनिष्क इन दिनों काफी परेशानियों से गुज़र रहा है. एक विज्ञापन में हिन्दू महिला की गोदभराई की रसम को दिखाया गया था. विज्ञापन में हिंदू लड़की की शादी मुस्लिम परिवार में दिखाई गई है. जहाँ मुस्लिम परिवार गोदभराई के दौरान पूर्ण रूप से हिंदू रीति-रिवाज़ अपनाता है लेकिन इस विज्ञापन पर लव जिहाद के आरोप लगा कर तनिष्क के बहिष्कार की मांग की जा रही है. हालाँकि तनिष्क इसके लिए माफ़ी भी मांग चुका है.

Please follow and like us: