धार्मिक

घर के मंदिर में न रखें शनिदेव की मूर्ति, हो सकता है अनर्थ

भारत मान्यताओं का देश है, यहां पर धर्म सिर्फ धर्म न होकर त्योहार जैसा है। आपने अक्सर हर सुबह अपने आस पास के घर से घंटी बजने या शंख की आवाज़ आते तो सुना ही होगा, इसी बात से अंदाज़ लगाया जा सकता है कि हमारे यहाँ धर्म को कितनी प्राथमिकता दी जाती है। हिन्दू धर्म मे हर दिन किसी न किसी भगवान का दिन होता है और यह भी कहा जाता है कि अगर हम अपने भगवान की उनके ही दिन पूजा करते हैं तो हमारी पूजा भी सफल मानी जाती है। 

वैसे तो हम सभी के घर के एक मंदिर होता है और उस मंदिर में बहुत से भगवान की मूर्तियां और फ़ोटो फ्रेम होते हैं, ऐसा भी कहा जाता है मंदिर में कुछ-कुछ भगवान की मूर्ति या फ़ोटो को एक साथ नही रखना चाहिए, ऐसा करने ने घर मे दिक्कतें पैदा होने लगती हैं। और जब भी पूजा करने बैठे तो पूजा को सही ढंग से करें, गलत ढंग से या बेमन से करने पर आपको इसका उल्टा असर देखने को मिल सकता है। 

वैसे आपको बता दें शनि भगवानी की मूर्ती को घर के मंदिर में नही रखना चाहिए, इसके पीछे का कारण बताया गया है कि, शनि भगवान को यह श्राप मिला है कि वे जिसे भी देखेंगे उसका अनिष्ट या बुरा ही होगा। 

अगर आपको शनि देव की पूजा करनी है तो आप घर के बाहर कही मंदिर में जाकर पूजा करें और पूजा करते वक़्त उनके पैरों को न देख कर उनकी आंखों में आंखे डाल कर उन्हें तेल अर्पित करें।

बहुत सारी ऐसी ही मान्यताएं हैं जिनके बारे में हम नहीं जानते और पूजा पाठ में गलती कर बैठते हैं, जिसका फल हमको आने वाले समय में भुगतना पड़ता है। 

Please follow and like us: