अजब गजब

काली माँ के इस मंदिर में प्रसाद स्वरुप बांटे जाते हैं नूडल्स, आप भी जाइये

भारत एक आस्थावान देश है, हमारे यहाँ हमारा धर्म चाहे वह कोई भी धर्म हो, खास तौर पर हिन्दू धर्म सिर्फ धर्म न होकर एक त्यौहार से भी ज़ादा है। हम इसे पूजते ही नहीं बल्कि रोज़ मानते हैं।

हिन्दू धर्म क्या है इससे पूरा विश्व अच्छी तरह से वाकिफ, यह दुनिया का सबसे पहला धर्म है, हिन्दू धर्म सिर्फ एक धर्म न होकर एक जीवन जीने की पद्धति भी है, ये सिर्फ हमारी कही हुई बाते नहीं हैं बल्कि साइंस का भी यही मानना है। हिन्दू धर्म में बोले जाने वाले मंत्र मात्र सिर्फ मंत्र नहीं बल्कि इनमे अलौकिक शक्ति भी होती है जो किसी निर्जीव को भी जीवित कर दे। ऐसा हम नहीं साइंस ने भी इस चीज़ की पुष्टि करने में देर नहीं करी।

हमारे हिन्दू धर्मं में करोड़ों देवी देवता हैं, इसका सीधा उदहारण आप खुद अपने शहर में ही देख सकते हैं, लगभग हर गली नुक्कड़ चौराहों में आप किसी न किसी भगवान का मंदिर ज़रूर देख लेंगे लेकिन कोई भी भगवन एक जैसे नहीं मिलेंगे। हर भगवन के अलग अलग रूप हैं और अलग अलग कार्य भी, जिनकी पूजा उपसना करके हमें मन चाहे फल प्राप्त भी होते हैं।

हम सबने बहुत सरे देवी देवताओं के बारे में सुना होगा, यह भी सुना होगा के कैसे इन्हे प्रसाद चढ़ाया जाए या प्रसाद लिया जाय। हर भगवन की पूजा उपसना करने के तरीके भी अलग अलग होते हैं। आम तौर पर यही देखा गया है की भगवान को अक्सर खोय या फिर बेसन से बने पकवान मिठाइयां चढ़ाई जाती हैं, लेकिन क्या आपने ऐसा कही सुना है जहाँ देवी मइया को नूडल्स चढ़ाये जाते हैं? अजीब लगा न सुन कर? हमे भी अजीब लगा तभी हमने थोड़ा और रिसर्च किया तो पाया की कोलकाता के टंगरा में एक काली माता का मंदिर है।

अलगभग 60 साल पहले यहाँ पर पेड़ के नीचे 2 काले पत्थर रखे हुए थे, धीरे धीरे यहाँ पर कुछ स्थानीय लोग पत्थर की पूजा करने लगे। एक दिन किसी चीनी का बच्चा यहाँ बीमार पड़ गया और ठीक नहीं हो रहा था तो वह इस पेड़ के नीचे जाकर लेट गया और कुछ दिन बाद वह चमत्कारिक रूप से ठीक हो गया। तभी से चीनी लोग इन पत्थरों की पूजा करने लगे और फिर यहाँ पर मंदिर बना दिया गया। और इसका नाम चाइनीस मंदिर रख दिया गया।

Please follow and like us: