वायरल

80 घंटो तक बोरवेल में फसा रहा मासूम, आखिर में हार गया ज़िन्दगी की जंग

चैन्नई में बोरवेल में गिरे 2 वर्षीय मासूम सुजीत विल्सन की लगभग 80 घंटे के रेस्क्यू ऑपरेशन के बाद भी नही बचाई जा सकी। ज़िन्दगी और मौत के बीच लगभग 80 घंटे लड़ने के बाद सुजीत ज़िन्दगी की जंग हार गया।
बच्चा तमिलनाडु में तिरुचिरापल्ली जिले के एक गांव में
अपने घर के पीछे खेलते हुए एक बोरवेल में गिर गया था वहां से वह 30 फीट पर अटक गया, और बाद में बच्चा और नीचे चला गया और लगभग 90 फीट जाकर फस गया  जिसके बाद से ही एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की टीम बचाव कार्य में जुटी थी।  लेकिन उसे बचाया नहीं जा सका।
नही काम आयी दुवाएँ धम गई सांसे
बच्चे के बोरवेल में गिरने के बाद से ही लाखो हाथ उसकी सलामती के लिए दुआ में उठ गए इसके साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने भी बच्चे की सलामती की दुआ की। प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट कर कहा, ”मेरी दुआएं हिम्मती सुजीत विल्सन के साथ हैं। सुजीत को बचाने के लिए चल रहे बचाव अभियान के संबंध में मुख्यमंत्री ई. पलानिसामी से मेरी बात हुई है. वह सुरक्षित रहे इसके लिए सभी संभव प्रयास किए जा रहे हैं।”
आज तमिलनाडु परिवहन विभाग के प्रधान सचिव जे राधाकृष्णन ने कहा, ”दो वर्षीय बच्चे का शरीर अब विघटित अवस्था में है।  हमने उसे बचाने की पूरी कोशिश की, लेकिन दुर्भाग्यवश बोरवेल से दुर्गंध आने लगी। विल्सन का शरीर बोरवेल के अंदर बुरी तरह से क्षत-विक्षित हो गया था। बच्चे का शव बरामद होने के बाद खुदाई प्रक्रिया रोक दी गई है।”
Please follow and like us: