हेल्थ और फिटनेस

आपके पीरियड का रंग खोलेगा आपके सेहत के कई राज

महिलाओं में होने वाली इन बीमारियों का रहस्य खोलेगा उनके पीरियड रंग

हर लड़की को एक उम्र के बाद मासिक धर्म होता है। इस मासिक धर्म के बाद लड़कियों में तमाम हार्मोनल बदलाव होते है जिससे लड़कियों में दर्द और चिड़चिड़ापन हो जाता है। यह प्रक्रिया लगभग हर महीने होती है। लड़कियों में मासिक धर्म का सही समय से होना अच्छे स्वास्थ्य का प्रतीक माना जाता है मासिक धर्म चक्र 25 दिन का होता है। आमतौर पर पीरियड का रंग लाल होता है क्योंकि माना जाता है कि यह शरीर का गंदा खून होता है इसलिए इसका रंग लाल होता है लेकिन कुछ महिलाओं में इस लाल रंग में थोड़ा फर्क हो जाता है यह फर्क कभी हल्का भूरा, काला या फिर गुलाबी भी हो सकता है। लेकिन अभी तक आपने इसपर भले ही ध्यान दिया हो लेकिन यह पीरियड के रंग आपके स्वास्थ्य के बारे में बहुत कुछ बताते है।  तो चलिए आपको बताते ही आपकी सेहत के बारे में क्या कहता है आपके पीरियड का रंग कहीं आप गंभीर बीमारी की शिकार न तो नहीं हो  रही है।

 चमकदार लाल रंग- अगर आपके पीरियड का रंग चमकदार लाल है तो यह बताता है कि रक्त को जल्द ही गर्भाशय में बना है। इसे “फेर्टाइल पीरियड” भी कहते है। अगर यह प्रवाह कम दिनो तक होता है और महीनों तक बना रहता है तो आप अपने डॉक्टर से मिलकर हीमोग्लोबिन और थायराइड की जांच करवाएं।

गहरा लाल – यह रंग बताता है कि रक्त गर्भाशय में लंबे समय से बन चुका  था पर कुछ हार्मोन प्रवाह की कमी की वजह से पीरियड में काफी समय लगा। अगर यह सुबह में अक्सर होता है, तो यह सामान्य है। लेकिन अगर स्थिति पूरे दिन रहती है तो यह हार्मोनल असंतुलन का संकेत है।

ब्राउन या ब्लैक – भूरा या काला रंग विषम और पुराने खून के लिए एक संकेत है। यदि यह चक्र के अंत में होता है और प्रवाह इतना भारी नहीं होता है, तो इसे सामान्य माना जाता है। यह तब होता है जब रक्त गर्भाशय गुहा में बहुत लंबे समय तक फंस जाता है। लेकिन अगर यह प्रवाह की स्पॉटिंग या अनियमितता है, तो यह  इष्टतम हार्मोन की कमी को बताता है।  महिलाओं में काले मासिक धर्म रक्त फाइब्रॉएड और गंभीर एंडोमेट्रोसिस के संकेत देता है। ऐसे में आपको तुरंत स्त्री रोग विशेषज्ञ से परामर्श करने की आवश्यकता है।

गुलाबी – यह एनीमिया, असंतुलित आहार, या शरीर में आवश्यक पोषक तत्वों की कमी के कारण हो सकता है। इसके अलावा, अनुचित आरबीसी घनत्व से प्रजनन प्रणाली सहित विभिन्न अंगों में खराब ऑक्सीजन वितरण हो सकता है।

नीला सा – ब्लूईश मासिक धर्म बहुत कम शरीर के तापमान के कारण स्थिर या जमे हुए रक्त को दिखाता है। यह शरीर के कम तापमान की आवश्यकता के साथ दर्द और क्लोटिंग के साथ होता है।

नारंगी – ऑरेंज मासिक धर्म वास्तव में उज्ज्वल लाल मासिक धर्म रक्त और गर्भाशय ग्रीवा तरल पदार्थ का मिश्रण है। लाल लकीर के साथ नारंगी रंग की एक उपस्थिति कुछ संक्रमणों का संकेत देता है इसका मतलब आपको उचित उपाय की आवश्यकता है।

Please follow and like us:
Pin Share