बॉलीवुड

आखिर क्यूँ अमिताभ के पैर पड़े रजनीकांत, जाने वजह

अमिताभ बच्चन को मिलना और देखना किसी का कहां नसीब होता है ऐसे में जो भी उनसे मिलता है उनके पैर पड़ जाता है लेकिन अमिताभ सबको पैर छुने से रोक देते है लेकिन इंटरनेशल फिल्म फेस्टिवल के 50वें संस्करण 2019 में  सुपरस्टार रजनीकांत की मुलाकात जब अमिताभ बच्चन से हुई तो वह उन्हें आवार्ड देते ही तपाक से अमिताभ के पैर छू लिए। रजनीकांत ने यह काम इतनी तेजी से किया कि अमिताभ उन्हें रोक नहीं पाए।

आपको बता देते है कि इंटरनेशल फिल्म फेस्टिवल के 50वें संस्करण का आगाज गोवा में हो गया है। हर साल की तरह इस साल भी ये 9 दिन तक चलेगा। इस बार फिल्म महोत्सव में 76 देशों की 200 से ज्यादा फिल्मों का प्रदर्शन किया जाएगा।

इस ईवेंट को होस्ट करने की जिम्मेदारी करण जौहर के कंधो पर है। महोत्सव के पहले दिन सुपरस्टार रजनीकांत को आइकॉन ऑफ गोल्डन जुबली अवॉर्ड दिया गया तो वहीं रजनीकांत ने अमिताभ बच्चन को दादा साहेब फाल्के पुरस्कार नवाजा । इस मौके पर  रजनीकांत ने अमिताभ बच्चन के पैर छु लिए। अमिताभ वैसे तो अक्सर पैर छूने वालो को रोक देते हैं लेकिन रजनीकांत ने यह सब इतनी तेजी से किया कि अमिताभ उन्हें रोक नहीं पाए और उन्हें गले लगा लिया।

अमिताभ बच्चन ने कहा, ‘सभी गणमान्य लोगों, देवियों और सज्जनों आपके इस सम्मान और अवॉर्ड के लिए धन्यवाद। माता-पिता का आशीर्वाद रहा है, इस सफर में कई निर्देशकों, लेखकों और निर्माताओं, संगीतकारों का योगदान रहा है, जिसकी वजह से आज मैं यहां खड़ा हूं, लेकिन सबसे ज्यादा आभार जनता का है।’

जनता का यह ऋण कभी नहीं उतार पाऊंगा, शायद मैं उतारना भी नहीं चाहता। भारत सरकार और गोवा सरकार का धन्यवाद। रजनीकांतजी को मैं अपने परिवार का सदस्य समझता हूं। यह अलग बात है कि हम एक-दूसरे को सलाह देते रहते हैं, भले हम सलाह मानें या न मानें। रजनीकांत बेहद नम्र व्यक्तित्व के धनी हैं, अतुल्य व्यक्तित्व, जो हमेशा प्रेरित करते हैं।’

कार्यक्रम की शुरुआत में रमेश सिप्पी, एन चंद्रा और पीसी श्रीराम को सिनेमा में उनके योगदान के लिए सम्मानित किया गया। इस मौके पर शंकर महादेवन ने प्रस्तुति दी। फिल्म निर्माता-निर्देशक करण जौहर ने ट्वीट किया कि सिनेमा को सेलिब्रेट करने के लिए इससे बेहतर मंच हो ही नहीं सकता है।

Please follow and like us:
Pin Share