वायरल हिंदी समाचार

जानिए डेथ वारंट में क्या होती है फॉर्म-42 की भूमिका? कितना महत्वपूर्ण है ये फॉर्म

सात सालो के बाद देश की बेटी को मिला इंसाफ, निर्भया मामले में डेथ वारंट जारी

वेजाइना में राड डाल सात साल पहले उतारा था मौत के घाट, अब जारी हुआ डेथ वारंट 

निर्भया मामले में पूरे सात साल के बाद 2020 में आरोपितो को सजा सुना दी गई है। सात साल पहले इन हैवानो ने बड़ी दर्दनाक मौत दी थी निर्भया को। इस मामले पर पूरा देश उबल उठा था। हाईप्रोफाइल इस केस में सारे सबूतो के बाद अब चार आरोपितो के लिए डेथ वारंट जारी कर दिया गया है। 22 जनवरी को इन आरोपितो को फांसी पर लटकाया जाएगा जिसका जश्न पूरा मुल्क मानएगा। चलिए आपको बताते है डेथ वारंट में क्या होती है फॉर्म-42 की भूमिका? और कितना महत्वपूर्ण है ये फॉर्म

कोड ऑफ क्रिमिनल प्रोसीजर-1973, यानी दंड प्रक्रिया संहिता- 1973 (CrPC) के तहत 56 फॉर्म्स होते हैं। इसी में एक फॉर्म होता है, फॉर्म नंबर- 42। इसी फॉर्म नंबर-42 को ही डेथ वारंट कहा जाता है। इसके ऊपर लिखा होता है- वारंट ऑफ एक्जेक्यूशन ऑफ अ सेंटेंस ऑफ डेथ। इसे ब्लैक वारंट भी कहा जाता है। ये जारी होने के बाद ही किसी व्यक्ति को फांसी दी जाती है।

Please follow and like us:
Pin Share