बॉलीवुड

अपनी आवाज़ से दीवाना बनने वाले मुकेश के पोते का नहीं चला 12 साल बाद भी बॉलीवुड में सिक्का

स्टार किड हो या स्टार का पोता अगर बॉलीवुड में करियर बनाने के लिए मेहनत और लगन के साथ जनता को इम्प्रेस करने आना भी बहुत जरूरी है। दुर्भागय से नील नितिन मुकेश के पास टैलेंट की कोई कमी नहीं ना एक्टिंग नॉलेज कम है लेकिन फिर भी बॉलीवुड में उनका सिक्का नहीं जमा और महान गायक मुकेश का पोता होने के बावजूद बॉलीवुड में 12 साल बाद भी वो कुछ खास पहचान नहीं बना पाए।

बॉलीवुड में अपने करियर की शानदार शुरुवात के बाद भी इन्हें 12 साल में जनता का वो प्यार नहीं मिला जैसा मिलना चाहिए था। बड़े बड़े स्टार के साथ फ़िल्म में आने के बाद भी यह स्टार बॉलीवुड से जैसे खो सा गया है। 15 जनवरी 1982 को महाराष्ट्र में जन्में नील ने साल 1988 में विजय फिल्म से बतौर चाइल्ड आर्टिस्ट बॉलीवुड में डेब्यू किया।  इसके अलावा जैसी करनी वैसी भरनी में भी एक छोटा सा रोल प्ले किया।

नील ने साल 2007 में जॉनी गद्दार में लीड एक्टर के रोल में नज़र आये। यह फिल्म भले ही बॉक्स ऑफिस पर कुछ खास कमाल न दिखा पाई हो लेकिन नील सबका ध्यान अपनी तरफ खिंचने में कामयाब रहे। वहीं 2011 में नील एक बार फिर प्रियंका चोपड़ा के साथ सात खून माफ में एक अहम रोल में नज़र आये। यह फ़िल्म भी बॉक्स ऑफिस पर अपना जादू चलाने में कामयाब नहीं हो पाई।

इसके अलावा नील ने प्लेयर्स, शॉर्टकट रोमियो, प्रेम रत्न धन पायो, इंदु सरकार, वज़ीर और गोलमाल अगैन जैसी फिल्मों में काम किया । इसके बाद भी वो जनता के बीच अपनी खास जगह नहीं बना पाए। वहीं साल 2019  में श्रद्धा कपूर और प्रभास की फ़िल्म साहो को इनके करियर का टर्निग पॉइंट माना जा रहा था। लेकिन यह फ़िल्म भी बॉक्स ऑफिस में अपना कमाल दिखाने में फेल हो गई।

Please follow and like us:
Pin Share