खेल

मैथ्स के फार्मूले और फिजिक्स के न्यूमेरिकल के लिए नहीं बल्कि सिक्स पैक एब्स के लिए चर्चा में है यह लड़की

8 साल की उम्र में ढेरो मेडल जीतकर सेंसेशन बनी यह लड़की।
भारत के एथलीट की बात करे तो यहां तेजी से युवा अपनी प्रतिभा को निखारते हुए देश की तरक्की में चार चांद लगा रहे है और देश का परचम लहराकर विदेशों में भी अपनी छाप छोड़ रहे हैं। महिला पुरुष दोनों ही देश के लिए लगातार स्वर्ण जीत रहे है। इसके लिए देश भी इन खिलाड़ियों की लगातार मदद कर रहा है। किसी भी एथलीट की नींव बचपन से ही डालनी पड़ती है। तब जाकर एक एथलीट तैयार होती है। इन्ही एथलीटों में से एक है जोधपुर की पूजा बिश्नोई। यह कोई युवा नहीं है बल्कि महज 8 साल की उम्र में ही इस लिस्ट में शामिल हो गई है। जिसके बाद हर कोई उनके बारे में जानना चाह रहा और जोधपुर की यह लड़की सेंसेशन बन गई है। तो चलिए आपको बताते है इस नन्ही एथलीट के बारे में

पूजा जोधपुर के एक छोटे से गांव की रहने वाली हैं। हाल ही में उसने अंडर -10 एज कैटगरी में महज 12.50 मिनट में 3 किमी की दूरी तय करते हुए विश्व रिकॉर्ड बनाया। उसने 2024 के खेलों में एक ओलंपिक चैंपियन बनने की इच्छा जताई है।


लेकिन गरीब होने की वजह से उसके इस ख्वाब को पंख लगना मुश्किल लग रहा था। लेकिन इस मुश्किल का भी हल निकल आया । इसके लिए पूजा को विराट कोहली फाउंडेशन मदद कर रहा है। कोहली फाउंडेशन इसके लिए यात्रा, पोषण, प्रशिक्षण आदि के अपने दैनिक खर्चों को वहन करती है। पूजा अपने मामा और कोच  श्रवण बुड़िया को अपनी प्रेरणा मानती है।

अगर किसी काम को लगन और मेहनत से किया जाए तो फिर भले ही वो काम असफल क्यो न हो लेकिन इंसान उसमे कामयाब हो ही जाता है। ऐसा ही पूजा के साथ हुआ। उसके सपने के आगे उनकी गरीबी ने भी हाथ जोड़ लिए है। आपको यकीन नहीं होगा, लेकिन तस्वीरों को देखकर आप जान जाएंगे कि महज 8 साल की उम्र में इस बच्ची ने सिक्स-पैक एब्स बना लिए हैं। इसी के साथ वह ऐसा करने वाली एशिया की पहली और सबसे कम उम्र की लड़की बन गई है।
Please follow and like us:
Pin Share