मनोरंजन

जिसके आज बॉलीवुड में चर्चे है, कभी उसे बिना ऑडिशन ही भगा देते थे लोग

बाज़ीगर देखने के बाद बदला मन, बनने आये थे इंजीनियर, बन गए एक्टर
मुम्बई सपनो की नगरी है। यहां हज़ारो लोग अपनी आंखों में एक्टिंग का ख्वाब लेकर आते है। जिसमें कुछ के ख्वाब पूरे होते तो कुछ के चकनाचूर हो जाते है। लेकिन अगर दिल मे हौसला हो तो कोई भी मुश्किल और रुकावट आपका रास्ता नहीं रोक सकती। बॉलीवुड के चार्मिंग एक्टर कार्तिक आर्यन के साथ भी ऐसा ही हुआ। उनकी लगन और हौसले के आगे सभी मुश्किलों ने अपना रास्ता बदल दिया।

कार्तिक आर्यन बॉलीवुड में तेजी से आगे बढ़ रहे हैं । उन्होंने बॉलीवुड में एक के बाद एक कई हिट फिल्में दी। लगातार फिल्मे हिट होने की वजह से अब उनके पास कई फिल्मों के ऑफर हैं । कार्तिक आर्यन ने अपने फिल्मी करियर की शुरुआत फिल्म ‘प्यार का पंचनामा’ से की थी । उसके बाद उनकी फिल्म ‘प्यार का पंचनामा 2’ आई । लेकिन कार्तिक को सबसे बड़ा ब्रेक फिल्म ‘सोनू के टीटू की स्वीटी’ के बाद मिला ।
बॉलीवुड में बिना गॉडफादर आगे बढ़ना बहुत मुश्किल होता है। कार्तिक का भी फिल्म इंडस्ट्री में कोई गॉड फादर नहीं था । उन्होंने अपना सफर अकेले ही तय किया। उनका ये सफर आसान नहीं था। इस बात का खुलासा कार्तिक ने सोशल मीडिया ब्लॉग ‘ह्यूमन्स ऑफ बॉम्बे’ में किया है । इस ब्लॉग में कार्तिक आर्यन ने बताया कि कई बार उन्हें स्टूडियो के बाहर से ही बिना ऑडिशन दिये भेज दिया जाता था ।

कार्तिक आर्यन ने जो पोस्ट शेयर की है उसमें लिखा गया है, ‘मेरा जन्म ग्वालियर में हुआ था । माता-पिता मेडिकल फील्ड में थे और मैं इंजीनियरिंग करने जा रहा था । लेकिन नौंवी कक्षा में, मैंने बाजीगर देखी और मैं जानता था कि मैं स्क्रीन के दूसरी तरफ रहना चाहता हूं ।’
Please follow and like us:
Pin Share