वायरल

पहली मुलाकात में सचिन को गलत समझ बैठे थे भज्जी

अपनी गेंदबाजी छोड़ सचिन के पास चले जाते थे भज्जी
सचिन को लेकर हरभजन को थी इतनी बड़ी गलतफहमी, हरभजन ने खुद इस बात खुलासा किया

किसी के साथ पहली मुलाकात अक्सर हमारे दिलो दिमाग में कुछ अलग असर डालती है। यह तो वह इन्सान हमारी सोच से अच्छा निकलता है या फिर हमने सोचा कुछ और होता है और वह निकलता कुछ और है। कुल मिलाकर पहली मुलाकात मिलने से पहले एक हिचक और मिलने के बाद कई सवाल य फिर कई मजेदार किस्से छोड़ जाती है। ऐसा ही मजेदार किस्सा हरभजन और मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर की पहली मुलाकात का जिसका खुलासा खुद हरभजन सिंह ने किया।

भारतीय सरजमीं पर शुक्रवार से ऐतिहासिक डे-नाइट टेस्ट मैच की शुरुआत हो गयी है। कोलकाता के ईडन गार्डंस में इस खास मौके पर सितारों का जमावड़ा रहा। सचिन तेंदुलकर, सुनील गावस्कर, राहुल द्रविड़, वीवीएस लक्ष्मण समेत भारतीय क्रिकेट के कई दिग्गज स्टेडियम पर मौजूद थे। इस दौरान खिलाड़ियों ने कुछ अपनी पुरानी यादों को ताजा किया। इस दौरान मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर से पहली मुलाकात के समय स्टार स्पिनर हरभजन सिंह गलतफहमी के शिकार हो गए थे। सचिन ने ईडन में ऐतिहासिक डे-नाइट टेस्ट के पहले दिन लंच के दौरान टॉक शो में खुद इस बात का खुलासा किया।

सचिन ने बताया, ‘मैं पहली बार हरभजन से मोहाली के मैदान में मिला था। वहां टीम इंडिया एक मैच खेलने गई थी। किसी ने बताया कि एक लड़का काफी अच्छी स्पिन गेंदबाजी करता है। मैंने कहा कि उसे बुलाओ। मुझे उसकी गेंदों पर बल्लेबाजी का अभ्यास करना है। हरभजन आकर मुझे गेंदबाजी कर रहा था। वह उस वक्त घरेलू क्रिकेट खेलता था और उभरता हुआ खिलाड़ी था।

अभ्यास के दौरान हरभजन कई बार मेरे पास आकर ‘जी पाजी’ बोल रहा था। मैं उसे बोलता था कि जाओ गेंदबाजी करो। ऐसा कई बार हुआ। मुझे माजरा समझ में नहीं आया। कई वर्षो बाद जब हरभजन टीम इंडिया में आ गया और अपनी जगह पक्की कर ली, तब जाकर भज्जी ने ही इस बात का रहस्योद्घाटन किया कि आखिर उस पहली मुलाकात में उसे क्या गलतफहमी हुई थी। हरभजन ने कहा कि सचिन बल्लेबाजी के लिए अपना गार्ड लेने से पहले हेलमेट सेट करने के लिए अपने सिर को झटकते थे। वे ऐसा हर बार करते थे। पहली मुलाकात के दौरान सचिन को ऐसा करते देखकर उन्होंने भूलवश समझ लिया था कि वह उसे बुला रहे थे, इसलिए बार-बार उनके पास जा रहे थे।

सचिन ने बताया, ऐसा कई बार हुआ लेकिन मुझे समझ नहीं आया। कई वर्ष बाद जब भज्जी टीम इंडिया में जगह बनाने के बाद भज्जी ने ही इसका खुलासा किया कि उस पहली ही मुलाकात में क्या गलतफहमी हुई थी। भज्जी ने सचिन को देखते-देखते खुद ही समझा कि सचिन उन्हें अपने पास बुलाते नहीं थे दरअसल बैटिंग के लिए अपना गार्ड लेने से पहले वह हेलमेट सेट करने के लिए अपने सिर को झटकते थे। हर बार सचिन ऐसा करते थे और हर बार भज्जी गेंदबाजी छोड़कर उनके पास आ जाते थे।

Please follow and like us:
Pin Share