अजब गजब

करता है एड्स बीमारी का इलाज, कीमत BMW से भी ज़्यादा

नहीं थम रही है तस्करी, तस्करो का पसंदीदा है यह जीव

रेड सैंड बोआ सांप को लेकर कई मिथ होने की वजह से इसकी कीमत आसमान छु रही है। इस सांप से जुड़ी तमाम मान्यताओं की वजह से बीएमडब्ल्यू एक्स 6 और मर्सिडीज बेंज जैसी ए क्लास गाडि़यो  से ज्यादा महंगा यह सांप देश और विदेशों में बेचा जा रहा है।

यही वजह है कि यह तस्करो की पहली पसंद बना हुआ है और खास डिमांड पर है।  जिस वजह से आए दिन पकड़े जाने पर भी इसकी तस्करी नहीं रुक रही है।   बिहार के अररिया में सुरक्षा बल के जवानों ने एक स्मगलर के पास से दो सांप बरामद किए, जिसकी कीमत तीन करोड़ रुपए से अधिक है।

इस सांप को लेकर लोगों में तरह तरह की मान्यताएं है जैसे  इसका मांस खाने से एड्स जैसी बीमारी जड़ से खत्म किया जा सकता है। भारत के लोग इस सांप को धन के देवता कुबेर से जोड़कर देखते है और इसके दर्शन को शुभ समझते है। इसके साथ हीइस सांप का इस्तेमाल जादू तंत्र-मंत्र में भी किया जाता है। रेड सैंड बोआ का इस्तेमाल चीन में  सेक्स पावर बढ़ाने वाली दवा बनाने में किया जाता है।  तो वहीं खाड़ी के देश में मान्यता है कि इसे खाने से कठिन से कठिन बीमारी दूर हो जाती है और आदमी हमेशा जवान रहता है।

कुछ लोगों का मानना है कि विशेष तांत्रिक क्रिया के बाद इसे खाने से आदमी अलौकिक शक्तियों का मालिक बन जाता है। यह भी मान्यता है कि इसके चमड़े में इरिडियम नामक तत्व पाया जाता है जो बहुमूल्य होता है। वाइल्ड लाइफ ट्रस्ट ऑफ इंडिया के रीजनल हेड डॉ. समीर कुमार सिन्हा ने कहा कि ‘रेड सैंड बोआ का मांस खाने या इससे बनी दवा से होने वाले फायदों का कोई वैज्ञानिक आधार नहीं है। यह सब सिर्फ अंधविश्वास है और सबसे दुखद बात यह है कि अंधविश्वास के चलते ये सांप मारे जा रहे हैं। आज सांप की यह प्रजाती विलुप्ती की कगार पर पहुंच गई है’।

Please follow and like us:
Pin Share